क्वांटम कंप्यूटर

क्वांटम कंप्यूटर      

कंप्यूटर आज हमारे जिंदगी का एक अहम हिस्सा बन चुका है।

आज के समय में प्रत्येक क्षेत्र में कंप्यूटर हमारे लिए बहुत उपयोगी साबित होता जा रहा है कंप्यूटर के द्वारा हम कठिन से कठिन कार्य को आसानी से कर लेते हैं। टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में, स्पेस में तथा एजुकेशन में भी कंप्यूटर का उपयोग हो रहा है। हम इन्हीं चीजों से अंदाजा लगा सकते हैं कि कंप्यूटर आज के समय में कितना उपयोगी है। जब से कंप्यूटर बना है तब से उसका साइज छोटा होता जा रहा है लेकिन इसके कार्य करने की क्षमता तेजी से बढ़ रही है कंप्यूटर में लगातार प्रगति देखने को मिल रही है इस प्रगति के साथ एक और शोध चल रहा है जिसका नाम है क्वांटम कंप्यूटर क्वांटम कंप्यूटर साधारण कंप्यूटर से बिल्कुल अलग होते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार एक विकसित क्वांटम कंप्यूटर की छमता सुपर कंप्यूटर से कई गुना अधिक होती है। ऐसा अंदाजा लगाया जा रहा है कि क्वांटम कंप्यूटर भविष्य का कंप्यूटर है।

क्वांटम कंप्यूटर क्वांटम फिजिक्स पर आधारित होता है जो बहुत से डेटा को इकट्ठा कर चंद सेकंडो में एक स्थान से दूसरे स्थान तक भेज सकता है।

क्वांटम कंप्यूटर में वायरिंग डिजिट के स्थान पर क्वांटम डिजिट का इस्तेमाल होता है। क्वांटम डिजिट को शॉर्ट फॉर्म में QUBITS कहा जाता है। इस बात का अंदाजा लगाना बहुत मुश्किल है कि क्वांटम कंप्यूटर कब तक बनकर तैयार हो सकता है क्योंकि क्वांटम कंप्यूटर बनाना इतना आसान नहीं है इसके लिए ऐसे एडवांस टूल्स एवं जटिल एल्कोरम की आवश्यकता होती है। जिसे बनाना इतना आसान नहीं है। इसे बनाने के लिए बहुत मेहनत लगती है एवं हाई टेक्नोलॉजी की आवश्यकता पड़ती है।

क्वांटम कंप्यूटर की क्षमता को देखते हुए दुनिया की  बहुत बड़ी-बड़ी कंपनियों ने इस पर अपना पैसा खर्च करना शुरू कर दिया है जैसे गूगल, आईबीएम, माइक्रोप्रोसेसर आदि। भारत सरकार ने भी इस शोध की दिशा में बढ़ावा देने के लिए quantum information science and technology(क्वांटम इंफॉर्मेशन साइंस एंड टेक्नोलॉजी) का गठन किया है।

इस प्रकार की पोस्ट पढ़ने के लिए वेबसाइट resultsinfo99.in पर जाएं।

Leave a Comment