इलाहाबाद विश्वविद्यालय आगामी शैक्षणिक परीक्षाओं में हो सकती है और देरी, जाने क्या हो सकता है कारण

इलाहाबाद विश्वविद्यालय प्रशासन लंबे समय से स्थायी परीक्षा नियंत्रक की तलाश में है जिसके लिए पूर्व में ही ऑधिकारिक सूचना भी जारी की गयी थी और आवेदन भी मांगे गए थे लेकिन अपरिहार्य कारणों से कही कही न स्थायी रूप से परीक्षा नियंत्रक की चयन नही हो पायी थी।

एकबार पहले भी चयन समिति की बैठक होने की सूचना थी लेकिन उसे आखिरी मौके पर निरस्त कर दिया गया था। बाद में आनन फानन में हिमांशु श्रीवास्तव व पी.एस पुंदीर को डेप्युटी परीक्षा नियंत्रक का कार्यभार दिया गया था। बताते चले कि अभी भी परीक्षा नियंत्रक के पद पर प्रोफेसर रामेन्द्र सिंह हैं।

अस्वीकार किया जा रहा परीक्षा नियंत्रक का इस्तीफा –

खबरों की माने को परीक्षा नियंत्रक रामेन्द्र सिंह ने इस्तीफा भी दिया था लेकिन ऊपर के अधिकारियों द्वारा बार बार अस्वीकार कर दिया जा रहा था चूँकि ऐसे उहापोह माहौल के बीच प्रोफेसर रामेन्द्र सिंह ही एक ऐसे कडी माने जाने है जो परिस्थितियों को देख सक्षम निर्णय लेने की तर्जूबा रखते है। यही वजह है कि तमाम वार्षिक परीक्षाओ के संपन्न के बाद अब नए चयन प्रकिया की शुरुआत पुन: की गयी।

आज शुरू हुई नयी चयन प्रकिया –

प्राप्त सूचनाओ के अनुसार आज से नए परीक्षा नियंत्रक के लिए चयन समिति की प्रकिया शुरू कर दी गयी है। आवेदन करने वालो में मेन कैंपस के साथ साथ संगठक महाविद्यालय के प्रोफेसर भी शामिल है। अब देखना दिलचस्प होगा कि किसने हाथ यह ताज जाती है।

परीक्षाओ पर पड़ सकता है असर –

तमाम सेमेस्टर्स की परीक्षाएँ आगामी नवंबर माह के दूसरे सप्ताह में प्रस्तावित है लेकिन अभी की स्थितियों को देखते हुए माना जा रहा है कि परीक्षाएँ अब नवंबर माह के तीसरे-चौथे सप्ताह से शुरू होने के आसार है।

Leave a Comment