कंप्यूटर:कंप्यूटर के कार्य, कंप्यूटर की भाषाएं, कंप्यूटर के भाग

कंप्यूटर

आज का युग कंप्यूटर का युग है आज जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में कंप्यूटर का समावेश है ग्राहक पैमाने पर गणना करने वाले इलेक्ट्रिक इस संयंत्र को संगणक अथवा कंप्यूटर कहते हैं अर्थ कंप्यूटर वह युक्ति है जिसके द्वारा स्वचालित रूप से विभिन्न प्रकार के आंकड़ों को संशोधित एवं संचालित किया जाता है वर्तमान स्वरूप का पहला कंप्यूटर मार्क-1 था जो 1937 ईस्वी में बना था।

कंप्यूटर के कार्य-: कंप्यूटर के प्रमुख तकनीकी कार्य चार प्रकार के होते हैं।

1.आंकड़ों का संकलन या निबेसन करना।

2. आंकड़ों का संचयन।

3. आंकड़ों का संसाधन।

4. प्राप्त जानकारी का निर्गमन या पुनर्निर्गंमनण करना।

हार्डवेयर-: कंप्यूटर और उससे संलग्न सभी यंत्र और उपकरणों को हार्डवेयर कहा जाता है।

कप्यूटर की भाषाएं

1. मशीनी कूट भाषा।

2. एसेम्बली कूट भाषा।

3. उच्च स्तरीय भाषाएं

मशीनी कूट भाषा-: इस भाषा में प्रत्येक आदेश को दो भागों के दो भाग होते हैं आदेश कोड तथा स्थिति कोड इन दोनों को जीरो व एक के क्रम में सम्मोहित कर व्यक्त किया जाता है। कंप्यूटर के आरंभिक दिनों में प्रोग्राम द्वारा कंप्यूटर को आदेश देने के लिए जीरो तथा एक के विभिन्न क्रमो का ही प्रयोग किया जाता है। यह भाषा समय ग्राही थी जिसके कारण एसेंबली व उच्च स्तरीय भाषाओं का प्रयोग किए जाने लगा।

एसेंबली भाषा-: इस भाषा में याद रखे जाने लायक कोर्ट का प्रयोग किया गया जिसे निमोनिक कोड कहा गया जैसे-: (ADDITION) के लिए (ADD) (SUBSTRACTION) के लिए(SUB) एव(JUMP) के लिए (JMP) लिखा गया। परंतु इस भाषा का प्रयोग एक निश्चित संरचना वाले कंप्यूटर तक ही सीमित था अतः इन भाषाओं को निम्न स्तरीय भाषा कहां गया।

उच्च स्तरीय भाषाए-: उच्च स्तरीय भाषाओं के विकास का श्रेय IBM कंपनी को जाता है। फांरट़ान नामक पहली उच्च स्तरीय भाषा का विकास इसी कंपनी के प्रयोग से हुआ। इसके बाद सैकड़ों उच्च स्तरीय भाषाओं का विकास हुआ। यह भाषा ही मनुष्य के बोल चाल और लिखने में प्रयोग होने वाली भाषाओं के काफी करीब है।

                      कंप्यूटर के भाग

1. सी.पी.यू. (CPU)-: यह सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट का संक्षिप्त रूप है। इसे कंप्यूटर का मस्तिष्क कहा जाता है।

2. रैम(RAM)-: यह रेंडम एक्सेस मेमोरी का संक्षिप्त रूप है सामान्य भाषा में इसे कंप्यूटर की याददाश्त कहा जाता है। रैम की गणना मेगाबाइट्स (इकाई) में होती है।

3. मदर बोर्ड (mother board)-: यह सर्किट बोर्ड होता है जिसमें कंप्यूटर के प्रत्येक तिलक लगाए जाते हैं सीपीयू रैम आदि यूनिट मदरबोर्ड में ही संयोजित पर रहती हैं।

4. की-बोर्ड (key board)-: कंप्यूटर के लेखन प्रणाली के लिए उपयोग में लाए जाने वाला उपकरण कीबोर्ड कहलाता है सामान्यतः 101 की – बोर्ड को अच्छा माना जाता है।

5. माउस (mouse)-: इसकी सहायता से स्क्रीन पर कंप्यूटर के विभिन्न प्रोग्रामों को संचालित किया जाता है।

6. मॉनीटर(monitor)-: इस पर कंप्यूटर के निहित जानकारियों को देखा जा सकता है अच्छे रंगीन मॉनिटर में 256 रंग आते हैं मानिटरिंग मे डॉट पिच का उपयोग होता है। डॉट पिच पर जितने कम नंबर होते हैं स्क्रीन पर उभरने वाली छवि उतनी ही साफ और गहराई के लिए होती है।

Leave a Comment